Posted in: YOGA

WHAT IS PRANAYAMA BEST EXERCISE FOR RELAX MIND 2020

Spread the love

what is pranayama yoga how to do breathing exercise:


अनुलोम विलोम प्राणायाम Alternate nostrill breathing exercise:

बहुत से लोगों को योगा YOGA  करने का बहुत शौक होता है क्योंकि उनको लगता है योगा YOGA करने से वह स्वस्थ रहेंगे उनका कहना भी सही है लेकिन योगा YOGA करने की कुछ नियम होते हैं
कुछ तरीके होते हैं अगर कोई भी चीज तरीके से की जाए तू उसका लाभ मिलता है अन्यथा वह बेकार ही जाती है ऐसे ही योगा होता है योगा YOGA अगर सही तरीके से किया जाए तो इसके इतने सारे लाभ हैं की हम सोच भी नहीं सकते आज हम अनुलोम विलोम प्राणायाम pranayama yoga करेंगे इस प्राणायाम pranayama yoga के बारे में किसे पता नहीं होगा लेकिन तरीका नहीं पता होगा तो चलिए देखते हैं-

PRANAYAMA
प्राणायाम pranayama breathing exercise करने के तरीके को जानने से पहले हम अपने हाथों की उंगलियों के बारे में जानते हैं 
क्योंकि प्राणायाम pranayama breathing exercise में उंगलियों का बहुत अधिक महत्व है क्योंकि मैं इस आर्टिकल में उंगलियों के नाम लूंगा यदि आपको पता होंगे तो आपको कोई दिक्कत नहीं होगी 
यदि आपको उंगलियों के नाम नहीं पता तो मैं नीचे एक पिक्चर दे रहा हूं उसमें हमारे हाथों की उंगलियों के नाम दिए हैं और इसके 
PRANAYAMA

प्राणायाम pranayama /breathing exercise अनुलोम विलोम करने का तरीका :

प्राणायाम pranayama breathing exercise करने के लिए सबसे पहले आप सुखासन यानी कि अपनी दोनों टांगों को मोड़ कर बैठ जाएं जिसे हम पालथी मर कर भी बैठना भी कहते हैं
एकदम Relax होकर बैठ जाय अपनी कमर सीधी रखें और गर्दन भी सीधी रखें अपने दोनों 
हाथ अपने दोनों घुटनों पर रखें अपना दायां हाथ दाय घुटने पर तथा बाया हाथ बाएं घुटने पर
रखें
अब हमें अपने बाएं हाथ की तर्जनी उंगली को अंगूठे के साथ लगाकर गोला बनाकर 
तीनों उंगलियों को खुला रखना है और घुटने पर रखनी है कुछ इस तरह जैसे नीचे फोटो में दिख रहा है-
PRANAYAMA
अब दाएं हाथ की तर्जनी उंगली और मध्यमा अंगुली को मिलाकर उन दोनों की जड़ों में 
मिलाएं बाकी दो उंगली को खुला रखें अंगूठे को उन दोनों उंगलियां 
जो मोड़ी गई हैं के साइड में लगाएं कुछ इस तरह जैसे नीचे फोटो में दिख रहा है-
PRANAYAMA
अब अपनी दाएं हाथ के अंगूठे से अपनी दाई नासिका द्वार को बंद करें और बाई नासिका द्वार 
से सांस भरें फिर उससे कनिष्ठ और अनामिका उंगली से बाय नासिका द्वार को बंद करें और 
दाएं नासिका द्वार से सांस छोड़ें।
हो सके तो सांस छोड़ने में जो समय लगता है वह सांस लेने में जो समय लगता है उसका दोगुना हो सांस लेने के बाद उसे धीरे धीरे नासिका द्वार से छोड़ें यह 
कम से कम 5 मिनट तक करें तो आपके लिए फायदेमंद होगा कोई भी चीज एकदम फायदा 
नहीं करती उसके लिए समय लगता है।
PRANAYAMA

अनुलोम विलोम प्राणायाम pranayama breathing exercise के लाभ pranayama benefits:

  1. दिमाग को तनाव मुक्त करता है 
  2. दिमाग को स्थिर करता है 
  3. भूलने की बीमारी को दूर करता है 
  4. याद रखने की क्षमता को बढ़ाता है
  5. आंखों की रोशनी को बढ़ाने में मदद करता है
  6. ब्लड प्रेशर को नियंत्रित रखता है
इन्हे भी पढ़िए :

Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *